रैना का खुलासा – ‘धोनी और मैने इसलिये लिया स्वतंत्रता दिवस पर संन्यास, फिर गले मिल फूट-फूट कर रोए’

जब से भारत के पूर्व कप्तान और थलाइवा महेंद्र सिंह धोनी और थाला सुरेश रैना ने संन्यास लिया है तभी से सभी के मन में लगातार यह सवाल उठ रहा है कि आखिर  दोनों ने इसके लिए स्वतंत्रता दिवस को ही क्यों चुना और एक साथ ही ऐसा क्यों किया। इसी सवाल का जवाब संन्यास लेने के अगले दिन सुरैश रैना ने दिया है।

सुरैश रैना ने बताया कि हम दोनों ने पहले से ही संन्यास लेने की योजना बना ली थी। धौनी की जर्सी का नंबर 7 है और मेरी जर्सी का नंबर 3, दोनों मिलाकर 73 होते हैं। शनिवार को भारत की स्वतंत्रता के 73 वर्ष पूरे हुए तो हमने सोचा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से विदा लेने का इससे बेहतर दिन और कोई नहीं हो सकता। सुरेश रैना ने यह भी बताया कि संन्यास की घोषणा करने के बाद दोनों मिलकर जमकर रोए। 

सुरैश रैना ने यह भी कहा कि उन्हें पता था कि माही चेन्नई में संन्यास की घोषणा के लिए ही आ रहे हैं इसीलिये उन्होंने खुद को पूरी तरह से तैयार कर लिया था। रैना ने कहा कि अब हम दोनों आईपीएल में दमदार खेलेंगे और खुब छक्के लगाएंगे।

बता दें कि धोनी ने अपना करियर 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के खिलाफ शुरू किया था। वहीं रैना ने 30 जुलाई 2005 को श्रीलंका के खिलाफ दांबुला में पहला अंतरराष्ट्रीय वनडे खेला था। दोनों ने लगभग एक साथ ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना शुरू किया। चेन्नई सुपर किंग्स में हमेशा साथ रहे और अब संन्यास भी साथ लिया।