लगातार जीत के बाद भी भारतीय टीम की सबसे बड़ी चिंता बना हुआ हैं यह दौरा।

भारतीय क्रिकेट टीम इस समय बहुत अच्छा खेल रही हैं।अपने घर में लगातार 11टेस्ट सीरीज जीतकर विश्व रिकॉर्ड बना चुकी हैं। बांग्लादेश के खिलाफ चल रही 2 टेस्ट मैचों की सीरीज अगर भारत जीत जाता है तो यह लगातार 12वी सीरीज जीत होगी ।

वर्तमान में सबसे ज्यादा चर्चा इंडियन तेज़ गेंदबाज़ी की हो रही हैं। उमेश यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी बड़ी जबरदस्त फॉर्म में नज़र आ रहे हैं।

स्पिनर्स की बात की जाए तो रविचंद्रन अश्विन और जडेजा ने शानदार प्रदर्शन किया है।और तो और दोनों ही स्पिनर बल्लेबाज़ी में भी रन बनाकर दिखा रहे हैं।

अब हम बात करते हैं बल्लेबाजों की मयंक अग्रवाल जो बतौर ओपनर खेल रहे हैं पिछली 12 पारियों में 856 रन बना चुके हैं और अपने कैरियर के अच्छे समय से गुजर रहे हैं।बात अगर रोहित शर्मा की कि जाए तो वो बांग्लादेश के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में टिक नहीं सके ,मगर अन्य भारतीय बैट्समैन विराट कोहली, अजिंक्या रहाणे, चेतेश्वर पुजारा सभी अच्छी फॉर्म में हैं।

आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में गोल्डन बॉल और गोल्डन बैट की रेस में आधे से ज्यादा इन्डियन खिलाड़ी हैं।कुल मिलाकर टीम इंडिया अभी हर डिपार्टमेंट में शानदार प्रदर्शन कर रही हैं।

यह दौरा हैं टीम इंडिया के लिए चिंता-

पिछले कई वर्षों से भारतीय टीम की सबसे बड़ी कमजोरी जो सामने आती है वह है विदेशी दौरा। विदेशी पिच ज्यादातर उछाल भरे होते हैं और तेज गेंदबाजों के लिए मददगार होते हैं, बहुत ज्यादा बाउंस भी देखने को मिलता है और ऐसे में भारतीय बल्लेबाज परेशान हो जाते हैं।

 तेज गति और बाउंस से चकमा खा जाते हैं और कैच आउट हो जाते हैं। यह समस्या कई वर्षों से भारत के साथ रही है। भारतीय टीम हमेशा से अपने घर में बहुत ही शानदार प्रदर्शन करते आई हैं, मगर जैसे ही विदेशी दौरों पर जाती है प्रदर्शन में गिरावट देखने को मिलती है।भारतीय तेज गेंदबाज अपेक्षाकृत उस लेंथ और लाइन के साथ गेंदबाजी नहीं कर पाते हैं जैसे कि वह भारत में करते हैं क्योंकि विदेशी बल्लेबाज तेज और उछाल भरी पिचों पर खेलने के आदी होते हैं। मगर भारतीय गेंदबाज धीमी गेंदबाजी और धीमी पिचों पर खेलने के आदी होते हैं । 

ऐसे में वह उस ढंग से गेंद को बाउंस नहीं करा पाते हैं जिससे कि विदेशी बल्लेबाज परेशान हो, आने वाले समय में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के अंतर्गत भारत को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का दौरा करना है आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के पीच बहुत ही तेज और उछाल भरे होते हैं। कोच रवि शास्त्री को अच्छी रणनीति बनानी होगी।

 ऐसे में भारतीय क्रिकेट टीम के लिए यह दौरा चिंता का विषय बना हुआ है क्योंकि एक जबरदस्त में चल रही टीम इंडिया कहीं डगमगाना नहीं जाए। वैसे पिछले 1-2 वर्षों के आंकड़े देखे जाएं तो भारतीय टीम ने अपने प्रदर्शन में बहुत ही सुधार किया है और विदेशी दौरों पर भी शानदार जीत दर्ज की है।