लव मैरिज के लिए पार्टनर के पैरेंट्स से करने जा रहे हैं बात तो ऐसी होनी चाहिए मुलाकात

जब आप किसी के लिए कमिटेड होते हैं, तो एक समय ऐसा आता है कि आपको अपनी गर्लफ्रेंड या ब्वॉयफ्रेंड के पैरेंट्स से मिलना पड़ता है. आपकी फर्स्‍ट मीटिंग से ही आगे की बातें तय होती हैं. ऐसे में जरूरी है कि आप अपने पार्टनर के पैरेंट्स से मिलने की अच्‍छी प्‍लानिंग बना लें, जिससे कि आप कोई गलती न करें. कई बार आपके हीरो बनने की कोशिश आपको जीरो बना सकती है. आइए आपको बताते हैं कि आपको लवमैरिज के मामले में पार्टनर के पैरेंट्स से मिलने से पहले किन जरूरी बातों का ध्‍यान रखना चाहिए.पार्टनर के पैरेंट्स के बारे में पहले से जान लेंआप अपने पार्टनर के पैरेंट्स से अगर पहली बार मिलने जा रहे हैं, तो सबसे पहले उनके बारे में थोड़ी जानकारी ले लें. इससे आपको उन्‍हें इम्‍प्रेस करने में मदद मिलेगी. अब अगर आप लड़की हैं, तो अपने ब्वॉयफ्रेंड से जान लें कि उसके घर वालों की सोच कैसी है, उन्‍हें कैसी लड़की पसंद हैं और कैसा रहन-सहन वो लोग फॉलो करते हैं. इसके अलावा, लड़के को भी लड़की के पैरेंट्स के बारे में बेसिक जानकारी ले लेनी चाहिए जैसे कि उन्‍हें कैसा लड़का पसंद है, वो किस तरह की बातें पसंद करते हैं.पहली मुलाकात में कुछ अच्छा सा गिफ्ट
लड़की या लड़के के पैरेंट्स से पहली मुलाकात में, जब भी आप शादी के लिए उनसे मिल रहे हों, तो कुछ ऐसा गिफ्ट लेकर जाएं, जिससे आपको उन्‍हें इम्‍प्रेस करने में मदद मिलेगी. भले ही आप उनके लिए कुछ मिठाई ही लेकर क्यों न जाएं या फिर फूलों का गुलदस्ता भी लेकर जा सकते हैं.ड्रेस का रखें खास ख्‍याल
सबसे जरूरी बात जब आप अपने पार्टनर के पेरेंट्स से मिलने जा रहे हों, तो अपने पहनावे का विशेष ध्‍यान रखें. दरअसल आपके पहनावे या ड्रेसिंग से आपके व्‍यक्तित्‍व की पहचान होती है और आप किसी को इंप्रेस करने में सफल और असफल हो सकते हैं.संस्‍कारी बनें
हो सकता है, कि आप अपने पार्टनर के पैरेंट्स से काफी फ्रेंडली हों, आपने फोन पर कई बार बात कर ली हो लेकिन पहली मुलाकात में संस्‍कारी बनें. हो सकता है, इससे आपकी बात को आगे बढ़ाने में आसानी हो और आपको वह दुबारा मिलने की चाह रखें. आपका संस्‍कारी होना भी आपके पार्टनर के पैरेंट्स को इंप्रेस करता है. इसलिए आप उनको नमस्‍ते या चरण स्पर्श करने में न हिचकिचाएं.सलीके से बातचीत करें
आप जब अपने पार्टनर के पैरेंट्स से मिलते हैं, तो आप हमेशा सलीके से बात करें और कोशिश करें आपको जितना पूछा जाए, उसका ही जवाब दें. इसके अलावा, अपनी छोटी-छोटी खराब आदतों पर बेसिक रूप से ध्‍यान रखें जैसे फोन को बार-बार छेड़ना, पैरों को हिलाना या तमीज से न बैठना.पूरा टाइम दें
आप कभी भी अपने पार्टनर के पैरेंट्स से पहली मीटिंग में जल्‍दबाजी में न करें. पहली मुलाकात को पूरा टाइम दें और अच्‍छे से बाय बोलकर मीटिंग को पॉजिटिव तरीके से खत्‍म करें. जानें से पहले भी पैर छूना न भूलें.