लॉकडाउन में घूमना था तो बन गया फर्जी डॉक्टर, पुलिस के सामने ऐसे खुली पोल

  • सड़क पर आने के तरह-तरह बहाने
  • डॉक्टरों की पोशाक पहन टहल रहा शख्स
  • नोएडा पुलिस ने हिरासत में लिया
कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है. 25 मार्च से शुरू हुआ ये लॉकडाउन 14 अप्रैल तक चलेगा. लॉकडाउन के मद्देनजर में पूरे देश में हर तरह की गतिविधि पर रोक है. लोगों को घरों से निकलने की मनाही है, जबतक बेहद जरूरी काम न हो तो कोई भी व्यक्ति सड़क पर नहीं आ सकता है, पुलिस सख्ती से इस नियम का पालन लोगों से करवा रही है.
पकड़ा गया ‘डॉक्टर’हालांकि कुछ लोग ऐसे हैं जो तरह-तरह के बहाने बनाकर इस नियम को तोड़ रहे हैं. तो कुछ लोग नई-नई तरकीबें निकाल रहे हैं. नोएडा में एक शख्स ने ऐसे ही तरकीब लगाई. चूंकि डॉक्टर इलाज के लिए एक स्थान से दूसरे स्थान पर जा सकते हैं, इसलिए ये शख्स नकली डॉक्टर बन गया. इसने मास्क पहनी, डॉक्टरों की सफेद ड्रेस का इंतजाम किया और उसे पहनकर नोएडा में बेखौफ घूमने लगा.जब हुआ पुलिस से सामनासड़क पर तफरीह के दौरान थोड़ी ही देर में इस शख्स का सामना पुलिस से हुआ. पुलिस ने जब इससे बाहर निकलने की वजह पूछी तो इसने खुद को डॉक्टर बताया. लेकिन पुलिसवालों की पारखी नजर से इस शख्स का झूठ तुरंत पकड़ा गया. पुलिस ने जब कुछ और सवाल पूछे तो ये घबराने लगा.थोड़ी ही सख्ती में इसने सारी सच्चाई बता दी. शख्स ने कहा कि उसने घूमने के लिए डॉक्टर की वर्दी पहन रखा था. फिलहाल पुलिस ने युवक को हिरासत में ले लिया है और मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है.मरने का नाटक कर एंबुलेंस से जा रहा था घरलॉकडाउन में पुलिस को चकमा देने के लिए लोग अलग-अलग तरीके अपना रहे हैं. जम्मू-कश्मीर में चार लोगों ने घर तक जाने के लिए अनोखी तरकीब निकाली. इसमें से एक शख्स मरने का नाटक कर एंबुलेंस में डेड बॉडी बन गया और तीन साथी उसे लेकर घर जाने लगे. लेकिन यहां भी पुलिस की पूछताछ के दौरान ये चारों लोग पकड़े गए हैं.1700 पार हुआ कोरोना पॉजिटिव केसबता दें कि ताजा अपडेट के मुताबि देश में कोरोना के कुल पॉजिटिव केस की संख्या 1700 पार कर गई है. इसमें से 155 लोगों का इलाज हो चुका है, जबकि 52 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो चुकी है.