वरिष्ठ सर्जन डॉ. आरपी मिश्र की कोरोना से मौत

गोण्डा। जिले के वरिष्ठ सर्जन डॉ. आरपी मिश्र की कोरोना संक्रमण से शनिवार को मौत हो गई। वह एक सप्ताह पूर्व कोरोना संक्रमित पाए गए थे। हालत गंभीर होने पर उन्हें लखनऊ भेजा गया था। कल शाम उपचार के दौरान उनका निधन हो गया। मूल रूप से गोण्डा जिले में कौड़िया थाना क्षेत्र के रामापुर गांव के निवासी डॉ मिश्रा मौजूदा समय में संयुक्त चिकित्सालय बलरामपुर में तैनात थे। इसके पहले वह काफी समय तक गोण्डा के जिला अस्पताल में भी सर्जन के तौर पर कार्य कर चुके हैं। उनकी पत्नी भी डॉक्टर हैं और दीवानी कचहरी के समीप एक नर्सिंग होम संचालित कर रही हैं। डॉ मिश्रा के निधन पर अनेक लोगों ने शोक जताया है। परिजनों के अनुसार, डा. मिश्रा मधुमेह से पीड़ित थे। पिछले दिनों बलरामपुर से ड्यूटी करके लौटने के बाद उन्हें सांस लेने में तकलीफ शुरू हुई। इसके बाद उन्हें जिला अस्पताल लाया गया। यहां ट्रयू नेट्स मशीन से हुई जांच में वह कोरोना संक्रमित पाये गये। उन्हें लेवल-2 अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद हालत और गंभीर होने पर उन्हें लखनऊ के कोविड-19 लेवल-थ्री में भर्ती कराया गया। शुक्रवार शाम इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। डॉ. मिश्रा के भाई भी चिकित्सक हैं। इनके पिता राम लोचन मिश्रा सेवानिवृत्त शिक्षक थे। कुछ दिन पहले घर में ही सोते समय किसी ने उनकी गला दबाकर हत्या कर दी थी। लगभग एक महीने के भीतर ही परिवार में हुई दूसरी मौत से सभी आहत हैं। बलरामपुर से प्राप्त समाचार के अनुसार, डा. मिश्र की मौत के साथ ही जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर नौ हो गई है। सीएमओ डॉ. घनश्याम सिंह ने बताया कि सर्जन की कोरोना से मौत की पुष्टि करते हुए शोक व्यक्त किया है।