सब्जी खरीदने आए थे क्रिकेट अम्पायर, छोड़ गए नोटों से भरा बैग

सब्जी खरीदने आए थे क्रिकेट अम्पायर, छोड़ गए नोटों से भरा बैग
इंदौर। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश मे 21 दिनों का लॉकडाउन किया गया है। इंदौर में कलेक्टर ने कफ्र्यू घोषित कर दिया सिर्फ जरूरत की वस्तुओं को छूट दे रखी है। सब्जी खरीदने गए एक क्रिकेट अम्पायर नोटों से भरा बैग दुकान पर छोड़ गए। व्यापारी ने बैग की जांच कर निकले एक कार्ड के नंबर पर फोन लगाकर बुलाया। खबर लगते ही वे मौके पर पहुंचे। व्यापारी की ईमानदारी देख दो हजार रुपए देने लगे। इनकार करने पर तालियां बजाकर लोगों ने स्वागत किया।
ये मामला संविद नगर सब्जी मंडी का है। कल देना बैंक के कर्मचारी और अम्पायर मनीष जैन सब्जी लेने पहुंचे थे। कुछ दिनों की सब्जी लेकर वहां से रवाना हो गए। कफ्र्यू होने की वजह से मंडी में भीड़ थी और वे अपना बैग सब्जी मंडी में भूल गये। तभी मंडी में तरबूज बेचने वाले रवि अन्ना की नजर बैग पर पड़ी, जिसे उठाकर रख लिया। इसकी जानकारी संविद नगर रहवासी संघ के राजा कोठारी को दी गई। कोठारी ने बैग से आईडी निकाली और नंबर पर फोन लगाया।कुछ देर में जैन मौके पर पहुंच गए। जैसा जैन ने बताया ठीक वही कागजात व सवा लाख रुपए नकद मिलने पर उन्हें बैग सौंपा गया। रवि अन्ना की ईमानदारी को देखकर संविद नगर के लोगो ने जमकर तालियां बजाई। बाद में जैन ने रवि को कुछ ईनाम देने की बात कही तो उसने इनकार कर दिया। हालांकि बाद में जब सभी ने आग्रह किया तो दो हजार रुपए रख लिए।