सर्दियों के मौसम में हर किसी को लेना चाहिए इन 6 खानों का स्वाद, शरीर को मिलेंगे ढेरो फायदे

सर्दियों के मौसम में हम बाहर से मोटे-मोटे ऊनी कपड़े पहनकर ज़रूर अपने शरीर को ठंड से बचा लेते हैं लेकिन अगर इस मौसम में हम अपने खान-पान को सही तरीके से ना करें तो कई दफा हम अंदर से ठंड के शिकार हो जाते हैं। सर्दियों में उन खानों को अधिक से अधिक खाया जाना चाहिए जो शरीर को भीतर से गर्म रखते हों। इस तरह के खाने के आइटम्स खाने से हमारा शरीर सिर्फ इन्फेक्शन से ही नहीं, बल्कि मामूली सर्दी-जुकाम से भी सुरक्षित रहता है। चलिए देखते हैं कौन सी वो डिश हैं जिन्हें हमें सर्दियों में अधिक से अधिक खाने का प्रयास करना चाहिए।

01- अंडा करी

सालों पहले दूरदर्शन पर विज्ञापन आता था कि संडे हो या मंडे, रोज़ खाओ अंडे। इससे आप अंदाज़ा लगा सकते हैं कि अंडा खाना हमारे शरीर के लिए कितना ज़्यादा फायदेमंद होता है। हालांकि आज भी हमारे देश में एक बड़ी तादाद ऐसे लोगों की है जो अंडा नहीं खाते हैं। लेकिन जो लोग अंडा खाते हैं वो इन सर्दियों में अंडा खाने की मात्रा थोड़ी बढ़ा दें तो फायदे में रहेंगे। अंडे से शरीर को विभिन्न प्रकार के फायदे होते ही हैं, साथ ही सर्दियों में ये हमारे शरीर को गर्म रखने में बेहद मददगार भी साबित होता है।

02- चिकन बिरयानी

भारत की कुल आबादी का एक बहुत बड़ा हिस्सा ऐसा है जो बिरयानी खाना बेहद पसंद करता है। सर्दियों के मौसम में बिरयानी खाना एक मजे़दार अनुभव तो होता ही है, साथ ही ये शरीर के लिए भी कई मायनों में फायदेमंद होता है। चिकन खाने से हमारे शरीर को बढ़िया मात्रा में प्रोटीन तो मिलता ही है। साथ ही ये शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में भी कारगर होती है। चिकन बिरयानी के साथ अंडा मिल जाए तो समझिए मामला सोने पर सुहागा वाला हो चुका है। 

03- फिश मसाला

मछली खाना तो सर्दियों में बेहद ज़रूरी हो जाता है। बता दें कि मछली का मांस सभी प्रकार के मांस में सबसे ज़्यादा फायदेमंद और किसी भी प्रकार के नुकसान से सुरक्षित होता है। इसमें विभिन्न प्रकार के विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं। मछली खाने से हमारे दिमाग को भी काफी ताकत मिलती है। मछली का मांस ना सिर्फ शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में मददगार साबित होता है, बल्कि दिल की बीमारियों और ब्लड प्रेशर से जुड़ी समस्याओं में भी ये काफी फायदेमंद होती है।

04- दाल-चावल और मांस

दाल-चावल तो भारत का पारंपरिक भोजन रहा है। सदियों से हमारे देश के लोग दाल-चावल खा रहे हैं। यूं तो सर्दियों के मौसम में चावल कम खाने की सलाह विशेषज्ञ देते हैं लेकिन भारत का एक बड़ा हिस्सा ऐसा है जो हर मौसम में चावल ही खाता है। शर्त ये है कि ताज़ा बना हुआ चावल ही खाना चाहिए और अगर मुमकिन हो तो दाल-चावल के साथ मांस को को भी खाने में शुमार करना चाहिए। इससे सर्दियों में हमारे शरीर को भीतर से गर्मी मिलती है।

05- क्रैब मसाला

क्रैब मसाला यानि केंकड़ा मसाला भी सर्दियों में खाना बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन इसके साथ समस्या ये है कि ये एक सीफूड है। उत्तर भारत के इलाकों में ये मिलता तो है, लेकिन काफी महंगा होता है। यानि आम लोगों की पहुंच से दूर होता है। लेकिन फिर भी अगर कोई सक्षम है तो उसे सर्दियों में केंकड़ा खाने का मौका नहीं गंवाना चाहिए। इससे शरीर को विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व मिलते हैं।

06- प्रॉन्स मसाला

प्रान्स यानि झींगा मछली। ये भी आम आदमी की पहुंच से दूर का एक खाना है। वजह वही है। ये सीफूड है और उत्तर भारत के इलाकों में काफी महंगा मिलता है। लेकिन सर्दी के मौसम में इसे खाना काफी फायदेमंद होता है। इसमें कई ऐसे विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं जो हमारे शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं।