ससुराल जाने के चार घंटे बाद विवाहिता की संदिग्ध हालात में मौत, मृतका के भाई ने दर्ज कराई दहेज हत्या की रिपोर्ट

शहर के सूरसागर स्थित गेवां बाईपास में रहने वाली एक विवाहिता की शुक्रवार रात को संदिग्ध हालात में मौत हो गई। घटना से कुछ देर पहले ही पति उसे लेने आया था।

Married woman dies in suspicious circumstances after four hours of inlaws

 शहर के सूरसागर स्थित गेवां बाईपास में रहने वाली एक विवाहिता की शुक्रवार रात को संदिग्ध हालात में मौत हो गई। घटना से कुछ देर पहले ही पति उसे लेने आया था। रात 12 बजे मृतका के पीहर में सूचना दी कि वह मर गई है। मृतका के भाई ने दहेज हत्या की रिपोर्ट दी है। इसमें उससे दो लाख और एक मारूति कार की मांग किया जाना बताया है। 

पुलिस ने मृतका का शनिवार सुबह मथुरादास माथुर अस्पताल में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया है। गले पर फंदे लगाए जाने के आलामात मिले है। विवाहिता ने खुद फंदा लगाया या उसे मार कर फंदे पर लटकाया गया। पुलिस की तरफ से अनुसंधान किया जा रहा है। शरीर पर हालांकि जाहिरा चोट के निशान नहीं बताए गए। 

सूरसागर थानाधिकारी किशनलाल ने बताया कि खेमें का कुआं पाल रोड निवासी अशोक पुत्र पुखराज देवड़ा ने यह रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि उसकी बहन 27 साल की उषा की शादी गेवां बाईपास में रहने वाले शेरसिंह पुत्र चंपालाल माली के साथ छह साल पहले की गई थी। उसके पांच साल का पुत्र भी है। शादी के समय दस तोला सोना, दो किलो चांदी एवं घरेलु सामान आदि दिया गया था। जब उसकी बहन उषा पहली बार पीहर आई तब बताया कि ससुराल वाले दो लाख रूपए और मारूति कार की डिमांड कर रहे है। तब वह परेशान होकर छह महिने पहले पीहर आ गई। बाद में उसे समझा बुझाकर ससुराल भी भेजा गया। मगर ससुराल में पति शेरसिंह, ससुर चंपालाल, जेठ दिलीप, राकेश आदि मारपीट करते और ताने मारते थे। 

दो दिन पहले वह पीहर में ही थी। कल उसका पति शेरसिंह उसे लेने आया था। तब उषा ने जाने से इंकार करने के साथ अपनी जान को खतरा बताया। फिर भी उसे ससुराल भेजा गया। मगर 12 बजे उसके ससुर चंपालाल ने फोन कर बताया कि उषा की मौत हो गई है। 

थानाधिकारी किशनलाल ने बताया कि मृतका के भाई अशोक की रिपोर्ट पर दहेज हत्या में केस दर्ज करने के साथ आज उसका मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया गया है। अनुसंधान चल रहा है। गले पर फंदा लगाए जाने जैसे आलामात मिले है।