सिर्फ मुंह में रख लें ये इलेक्ट्राॅनिक टूथब्रश, तीन मिनट में दांत हो जाएंगे दूध से ज्यादा सफेद

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के अफोर्डेबल मेडिसिंस ऐंड रिलायबल इंप्लांट्स फॉर ट्रीटमेंट (अमृत) फार्मा सेंटर में कैंसर और हार्ट की दवाओं के अलावा अब डेंटल एंड ऑरल हेल्थ केयर प्रोडक्ट्स भी सब्सिडाइज़ कीमत पर खरीदे जा सकते हैं।

एम्स ने देश का पहला ऐसा फार्मा केन्द्र खोला है जहां एक छत के नीचे डेंटल हेल्थ की दवाएं और इससे संबंधित अन्य समाग्री सब्सिडाइज मूल्य पर प्राप्त की जा सकती हैं। एम्स के निदेशक प्रोफेसर रणदीप गुलेरिया ने सेंटर फॉर डेंटल एजुकेशन एंड रिसर्च (सीडीईआर) भवन के भूतल पर इस केन्द्र का औचारिक रुप से उद्घाटन किया। इस मौके पर सीडीईआर के प्रमुख प्रोफसर ओ पी खरबंदा और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

इस आउटलेट पर न केवल डेंटल हेल्थ से जुड़ी की हर प्राकर की दवाइयां बल्कि इलेक्ट्राॅनिक टूथब्रश, वाटर फ्लक्स, ऑर्थोडोंटिक टूथब्रश, फ्लोराइड माउथवास आदि समेत विशेष ऑरल हाइजीन के प्रोडक्ट भी कम कीमत पर खरीदे जा सकेंगे। मरीज सुबह आठ बजे से शाम के छह बजे तक इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। डेंटल हेल्थ केयर प्रोडक्ट से जुड़ी सामग्री और दवाइयों का एम्स के अमृत फार्मा केन्द्र में कमी महसूस की जा रही थी। प्रोफसर खरबंदा के अथक प्रयास से आज इस कार्य को अमली जामा पहनाया जा सका।

एम्स में वर्ष 2015 में तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने एम्स में पहले अमृत केन्द्र का उद्घाटन किया था। इस केन्द्र में कैंसर के 202 ड्रग्स बेचे जाने की शुरुआत हुयी और इनकी कीमत बाजार दर से 60 पर्सेंट तक सस्ती रखी गयी थी। कार्डिएक वैस्क्युलर डिजीज से जुड़ी 186 दवाएं भी 60 पर्सेंट तक सस्ती रखी गयीं। कार्डिएक इंप्लांट स्टेंट और पेसमेकर जैसे 148 आइट्म्स पर 50 से 60 प्रतिशत तक छूट की व्यवस्था शुरु की गयी थी।