सिर्फ 100 रुपये में रद्द हो जाएगा आपका भारी-भरकम चालान, ये है प्रक्रिया

जब से नया मोटर व्हीकल संशोधन एक्ट लागू हुआ है तब से ही नियमों की अनदेखी करने वालों के भारी-भरकम चालान कट रहे हैं. नए ट्रेफिक रूल (Traffic Rule) के लागू होने के बाद से ही लोग दहशत में हैं और अपने वाहन के कागजात दुरुस्त करवाने के लिए घंटों लाइन में लग रहे हैं. और ऐसे में जब आपको पीटीए चले की आपका भारी-भरकम चालान सिर्फ 100 रुपये में ही रद्द हो जाएगा तो आपको कैसा लगेगा? जी हाँ, ये सच है की आपका चालान वो भी जब हजारों रुपये का हो, सिर्फ 100 रुपये में रद्द हो सकता है. लेकिन आपको इस नियम की जानकारी होने जरूरी है.

क्या है नियम और शर्त

हालांकि, इस रूल के लिए एक शर्त है जिसे पूरी करने के बाद ही आपके चालान रद्द होंगे. हर जुर्म जैसे बिना इंश्योरेंस, बिना आरसी, बिना लाइसेंस, पॉल्यूशन और बिना परमिट के कागजात दिखाकर 100-100 रुपए देकर माफ करवा सकते हैं. इसके लिए आपको बाकायदा 15 दिनों का समय मिलेगा. नियमों (Traffic Rule) की सही और पूरी जानकारी ना होने की वजह से वाहन चालक पूरे पैसे जमा करवा देते हैं जो की सही नहीं है.

क्या करना होगा

चालान होने पर आप संबंधित प्लानिंग ब्रांच में जाकर अपने दस्तावेज चेक करवाकर चालान माफ करवा सकते हैं. लेकिन यह दस्तावेज चालान होने से पहले के बने होने चाहिए. जो वाहन जब्त किए गए हों, उन पर भी यही प्रक्रिया लागू होती है. आपको इसके लिए प्लानिंग ब्रांच में जाकर जिस भी बिंदु को लेकर चालान हुआ हो उसकी जांच करवानी पड़ती है. अगर आपके वो दस्तावेज पहले से ही बनें हो तो आपका चालान रद्द हो जाएगा और आपके पैसे वापस आ जाएंगे.

मोटर वाहन एक्ट (Traffic Rule) के तहत बढ़ा शुल्क

– मामूली नियम का उल्लंघन करने पर 300 रुपये

– रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट न दिखाने पर 300 रुपये

– बिना सीट बेल्ट या हेलमेट के – 1000 रुपये

– ओवरस्पीड से वाहन चलने पर- 2000 रुपये

– बिना लाइसेंस के वाहन चलाना- 2500 रुपये

– बिना रजिस्ट्रेशन वाहन चलाया- 5000 रुपये

– वाहन का प्रदूषण प्रमाण-पत्र नहीं- 2000 रुपये

– बिना डीएल वाहन चलाया तो 5000 रुपये

– बिना बीमा के वाहन चलाने पर 2500रुपये

– दो सवारी है और बिना हेलमेट तो 1000रुपये

– खतरनाक तरीके से वाहन चलाने पर 5000रुपये

– शराब पीकर वाहन चलाते हुए मिले तो 10000रुपये

– अधिकारी के कहने पर वाहन न रोका तो 2000रुपये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *