सूर्यदेव कर रहे हैं 4 मार्च को नक्षत्र परिवर्तन, इन अक्षरों से शुरू हो रहे नाम वाले लोगों को रहना होगा सावधान

Surya nakshatra parivartan surya gochar on March 4 its effect on people with names letter | सूर्यदेव कर रहे हैं 4 मार्च को नक्षत्र परिवर्तन, इन अक्षरों से शुरू हो रहे नाम वाले लोगों को रहना होगा सावधान

सूर्यदेव 4 मार्च को शाम 6 बजे पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में आएंगे17 मार्च की देर रात 2 बजकर 21 मिनट तक पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में रहेंगे सूर्य देवअगर स, द या च से आपका राशि नाम शुरू होता है, तो आग और बिजली से जुड़ी चीजों से बचने की जरूरत

हिंदू मान्यताओं में सूर्य देव को सभी ग्रहों का राजा कहा गया है। इनके नक्षत्र परिवर्तन का असर विभिन्न नामाक्षर और नक्षत्र वाले लोगों पर भी प्रभाव पड़ता है। कई बार ये प्रभाव शुभ होते हैं तो वहीं कुछ जातकों के लिए ये बदलाव चुनौती भी लेकर आता है।

बहरहाल, इस बार 4 मार्च (गुरुवार) को सूर्यदेव पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में प्रवेश कर रहे हैं। पंचांग के अनुसार सूर्य देव गुरुवार को शाम 6 बजे पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में आएंगे और 17 मार्च की देर रात 2 बजकर 21 मिनट तक इसमें गोचर करेंगे। 

आईए जानते हैं कि विभिन्न नक्षत्रों में जन्में जातकों पर सूर्य देव के पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र में गोचर का क्या शुभ-अशुभ प्रभाव होगा।

सूर्य नक्षत्र परिवर्तन: अगर स, द या च से शुरू होता है आपका नाम

ऐसे लोग जिनका जन्म पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद या रेवती नक्षत्र में हुआ है, ऐसे लोगों को 17 मार्च तक आग और बिजली से जुड़ी चीजों से बचकर रहने की जरूरत है। ऐसे नक्षत्र में जन्में लोगों का नाम स, द या च अक्षर से होता है। ये भी ध्यान रखें कि इस दौरान अगर आप नया घर बनाने की सोच रहे हैं तो 17 तारीख तक के लिए इसे टालना बेहतर होगा।

सूर्य नक्षत्र परिवर्तन: च, ल, अ, ई, उ, ए या व अक्षर से अगर शुरू होता है आपका नाम

ऐसे लोगों का जन्म अश्विनी, भरणी, कृतिका या रोहिणी नक्षत्र में होता है। इन लोगों के जीवन की गति में कुछ धीमापन आएगा। कामों में रूकावट आ सकती है। इससे थोड़ी परेशानी बढ़ सकती है।

सूर्य नक्षत्र परिवर्तन: व, क, घ, ह या ड अक्षर से अगर शुरू होता है नाम

आपका जन्म मृगशिरा, आर्द्रा, पुनर्वसु या पुष्य नक्षत्र में हुआ होगा। आपके जीवन में 17 तारीख तक एक स्थिरता बनी रहेगी। करियर को लेकर कोई खास उता-चढ़ाव अनुभव नहीं करेंगे। सबकुछ पहले की तरह चलता रहेगा। 

सूर्य नक्षत्र परिवर्तन: म, ड, या ट अक्षर वाले लोग

आपका जन्म आश्लेषा, मघा या पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में हुआ है। ऐसे लोगों के लिए आने वाले कुछ दिन अच्छे हैं। मां लक्ष्मी की कृपा बरसेगी और धन-संपत्ति में वृद्धि के आसार हैं।

आपका जन्म उत्तराफाल्गुनी, हस्त, चित्रा या स्वाती नक्षत्र में हुआ होगा। ऐसे लोगों के लिए भी आने वाले दिन अच्छे हैं। काम अच्छे से संपन्न होगा और लाभ का योग है।

अगर त, य, न अक्षर से है नाम

आपका जन्म विशाखा, अनुराधा या ज्येष्ठा नक्षत्र में हुआ होगा। ऐसे लोगों को 17 मार्च तक कुछ परेशानी हो सकती है। ऐसे लोगों के घर के मुखिया के स्वास्थ्य को लेकर परेशानी बनी रह सकती है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

अगर भ, ध, फ, ज या ख अक्षर से है नाम

ऐसे लोगों का जन्म पूर्वाषाढा, उत्तराषाढ़ा या श्रवण नक्षत्र में हुआ होगा। आपको आर्थिक मामलों में अगले कुछ दिन सावधानी से आगे बढ़ने की जरूरत है। आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

ग, स अक्षर वाले लोग

ऐसे लोग जिनका जन्म धनिष्ठा या शतभिषा नक्षत्र में हुआ होता है, इनके नाम इन अक्षरों से शुरू होते हैं। आपके 17 मार्च तक अपने स्वास्थ्य को लेकर सावधान रहने की जरूरत है। कोई रोग या भय से ग्रसित हो सकते हैं।