हाथरस गैंगरेप केस: देर रात कराया गया पीड़िता का अंतिम संस्कार, घटना से पूरे देश में आक्रोशित हैं लोग

Hathras gang rape case The victim funeral was done late at night people are agitated by the incident all over the country kpl

 हाथरस गैंगरेप पीड़िता का शव देर रात गांव पहुंचा और ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच अंतिम संस्कार कर दिया गया। हालांकि जब आधी रात में शव गांव पहुंचा तो ग्रामीण अंतिम संस्कार के लिए राजी नहीं थे।  लेकिन पुलिस ने भारी विरोध के बावजूद पीड़िता का अंतिम संस्कार करा दिया। लोगों के आक्रोश को देखते हुए क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है। वहीं, परिवार ने शव का जल्दबाजी में अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था। उनका कहना था कि वो न्याय चाहते हैं। पुलिस भी परिवार को मनाने में जुटी रही। जानें क्या है मामला…

14 सितंबर की सुबह हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र में बूलगढ़ी गांव में युवती अपनी मां के साथ खेत में चारा काट रही थी। चारा काटते-काटते वो अपनी मां से थोड़ी दूरी पर जा पहुंची। इसी बीच गांव के ही चार युवक वहां पहुंचे और लड़की को उसके दुपट्टे से खींचकर बाजरे के खेत में ले गए। जहां उन चारों ने उसके साथ दरिंदगी को अंजाम दिया। आरोपियों ने विरोध करने पर लड़की को जमकर पीटा। चारों आरोपी घटना के बाद लड़की को मरा समझकर वहां से फरार हो गए थे। लड़की की मां उसे ढूंढते हुए वहां पहुंची तो घटना का पता चला। लड़की को इलाज के लिए अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। हाथरस पुलिस को सूचना दी गई। 15 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ने के बाद मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता की मौत हो गई। 

पूरे देश में है गम और गुस्से का माहौल 
चंदपा क्षेत्र की अनुसूचित जाति की सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की मौत की खबर जैसे ही मंगलवार को सुबह लोगों को पता चली तो उनमें गम और गुस्सा देखा गया। लोगों ने कई स्थानों पर जाम लगाकर प्रदर्शन किया और जुलूस निकाले। 

योगी सरकार की वजह से गई जान
भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर का कहना है कि इस बेटी की जान योगी सरकार की वजह से गई। किसी ने भी दलित पीड़िता के लिए आवाज नहीं उठाई। सीएम ने भी सुध नहीं ली, व उससे व परिजनों से मिलने तक नहीं गए। यह मामला यहीं खत्म नहीं होगा। न्याय के लिए लड़ाई जारी रहेगी। सरकार ने संज्ञान नहीं लिया तो यूपी बंद का एलान किया जाएगा। 

यूपी में जंगलराज
, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है ‘यूपी की योगी सरकार महिलाओं की सुरक्षा में पूरी तरह नाकाम रही है। यही कारण है कि दुष्कर्म के मामले तेजी से बढ़े हैं। इनमें अधिकतर पीड़िता दलित समाज से हैं। वहां वर्ग विशेष जंगलराज कायम है। सरकार दलितों की आवाज को दबाने के साथ साथ पूरे समाज पर अन्याय कर रही है। 

एम्स में भर्ती न करना गंभीर लापरवाही 
आम आदमी पार्टी के विधायक और राष्ट्रीय प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा‘शर्म की बात है कि अधिकतर बिस्तर खाली होने के बाद भी पीड़िता को एम्स में भर्ती नहीं किया गया। यूपी से एम्स लाई गई बेटी को सफदरजंग में भर्ती करा दिया गया। यह गंभीर लापरवाही है।’

बदलनी होगी समाज की मानसिकता
राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा ‘यह घटना खासी दुर्भाग्यपूर्ण है, आयोग युवती के परिवार वालों के साथ खड़ा है। इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए समाज की मानसिकता को बदलना बहुत जरूरी है।

दोषियों को जल्द मिले फांसी: अरविंद केजरीवाल
यूपी के हाथरस जिले में दुष्कर्म की घटना और पीड़िता की मौत को देश के लिए शर्म की बात बताते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दोषियों को जल्द से जल्द फांसी दिलाने की मांग की है। मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता की मौत के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हाथरस की पीड़िता की मौत पूरे समाज, देश और सभी सरकारों के लिए शर्म की बात है। बड़े दु:ख की बात है कि इतनी बेटियों के साथ दुष्कर्म हो रहे हैं और हम अपनी बेटियों को सुरक्षा नहीं दे पा रहे। दोषियों को जल्द से जल्द फांसी की सजा मिलनी चाहिए।