हैलो, कंट्रोल रूमः जी, मुझे पान भेजिए, खाए बिना रहा नहीं जा रहा, डिमांड करने वाले चाचा-भतीजे को मिली यह सजा

कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉक डाउन किया गया है। साथ ही लोगों की सुविधाओं और व्यवस्था की मानीटरिंग के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। लेकिन, बहुत से लोग इन दिनों कंट्रोल रूम पर कॉल कर पुलिस को परेशान भी कर रहे हैं। कुछ ऐसा ही ताजा मामला सामने आया है रामपुर कोतवाली से। जहां चाचा और भतीजा ने कंट्रोल रूम पर कॉल करके पान उपलब्ध कराने की डिमांड की। हालांकि इस हरकत पर सख्त हुई पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया। सूत्रों के मुताबिक जिला प्रशासन ने दोनों चाचा-भतीजे से नालियों की सफाई करवाया। साथ ही भविष्य में ऐसी हरकत न करने की हिदायत देकर छोड़ा।यह है पूरा मामला
रामपुर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कूचा फरगना में एक चाचा-भतीजा ने कंट्रोल रूम में कॉल किया। फोन करके पान भेजने की मांग की। कॉल करने वाले ने बताया कि उनसे बिना पान के रहा नहीं जा रहा है। इस मांग से जिला प्रशासन के साथ-साथ पुलिस प्रशासन को भी काफी हैरानी हुई। कोतवाली थाने की पुलिस ने आज दोनों को हिरासत में ले लिया। जिला प्रशासन दोनों चाचा- भतीजे से नालियों की सफाई करवा रहा है, ताकि समाज में एक मैसेज जा सकें।ऐसी कॉल्स को किया जा रहा ब्लॉक
रामपुर के एसपी शगुन गौतम ने कहा कि मुताबिक इस तरीके की कॉल्स पुलिस के लिए काफी परेशानी का सबब बन गए हैं। ऐसे कॉल्स को ब्लॉक किया जा रहा है। ऐसे लोगों को मारने से बेहतर सामाजिक रूप से उन्हें शर्मिंदा करना ही ज्यादा आवश्यक है।नहीं बनता कोई आपराधिक मामला
एसपी ने कहा कि इस तरीके की मांग करने वालों के खिलाफ कोई आपराधिक मामला तो बन नहीं रहा, लिहाजा उन्हें सामाजिक रूप से शर्मिंदा करना ही उन्हें रोकने का एकमात्र तरीका है।एसपी ने कही ये बातें
एसपी ने कहा कि लोगों को समझाया जा रहा है कि इस तरीके की कॉल्स में जितना समय बेकार होता है। उतने समय में कई जरूरतमंद लोगों को आवश्यक चीजें पहुंचाने में सफलता मिल जाती है।पहुंचाने में सफलता मिल जाती है।