14 साल के मासूम ने बदमाशों के छुड़ाए छक्के, साहसी बालक के हौसले की हो रही तारीफ

14 year old indore boy punished miscreants

मध्य प्रदेश के इंदौर के समाजवाद नगर में ट्रैफिक थाने के पीछे गुरुवार रात डेढ़ बजे बदमाश एक साइकिल चुराने पहुंचे। खटपट की आवाज सुनकर घर का 14 साल का बच्चा बाहर आया तो बदमाश साइकिल चुराने की फिराक में नज़र आए। इस पर साहसी बालक शोर मचाते हुए बदमाशों पर झपट पड़ा। दो बदमाश तो पीछे हट गए, लेकिन तीसरे ने उसके हाथ पर ब्लेड से कई वार कर दिए। बच्चे ने इसके बाद भी साइकिल नहीं छोड़ी। इस बीच शोर सुनकर घरवाले आ गए तो बदमाश मौके से भाग गए। 

नौवीं के छात्र कृतार्थ राठौर ने बताया नानी और मामा रात एक बजे सोने चले गए। आधे घंटे बाद कुछ काटने की आवाज आई। मैं डंडा लेकर बाहर आया तो देखा तीन बदमाश मेरी साइकिल का ताला तोड़कर चेन काट रहे थे। मैं उनके पीछे भागा। शोर मचाने पर दो बदमाश भागकर दूर खड़े हो गए, तीसरा धमकी देते हुए साइकिल खींचने लगा।

कृतार्थ ने कहा कि मैंने एक हाथ से साइकिल पकड़ी और दूसरे से बदमाश को भगाने लगा। उसने ब्लेड निकाली और मेरे हाथ पर मारने लगा। मैं तेज-तेज से चिल्लाने लगा। तभी मामा गैलरी में आ गए उन्हें देखकर तीनों बदमाश भाग गए।

कृतार्थ की नानी दीप्ति बोड़ाने ने बताया कि आठ दिन में चोरी की यह तीसरी वारदात है। आठ दिन पहले घर में पीछे से एक चोर आ गया था। वह मोबाइल उठाने की कोशिश कर रहा था, तभी चोर का पैर कृतार्थ के पैर पर पड़ गया। जिससे कृतार्थ चीखा तो चोर भाग गया था। उन्होंने बताया कि तीन दिन पहले पास में रहने वाले एक किराएदार के घर से बदमाश साइकिल चुरा ले गए थे। वहीं इस घटना के उजागर होने के बाद इलाके में बच्चे के साहस की प्रशंसा हो रही है।