24 जनवरी को उत्तराखंड में एक दिन की सीएम बनेगी सृष्टि, विधानसभा में बैठेंगी

(सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत) की पहल पर बालिका दिवस(Balika Diwas) होगा खास, हरिद्वार की सृष्टि को मिला यादगार मौका

uttarakhand cm shristhi goswami M

इस बार बालिका दिवस(Balika Diwas) खास होगा। खास इस‌लिए क्योंकि सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत(Uttarakhand CM Trivendra Rawat) की पहल पर उत्तराखंड के इतिहास में एक नई इबारत लिखी जाएगी। जी हां, हरिद्वार की सृष्टि गोस्वामी बालिका दिवस यानी 24 जनवरी को एक दिन की मुख्यमंत्री होंगी। वह विधानसभा पहुंचकर विधानसभा सत्र में हिस्सा भी लेंगी।

सृष्टि गोस्वामी(Shristhi Goswami) को एक दिन के लिए बाल मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। 24 जनवरी को विधानसभा के कक्ष नंबर 120 में बाल विधानसभा आयोजित की जाएगी, जिसमें एक दर्जन विभाग अपनी प्रस्तुति देंगे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से सृष्टि को यह अवसर दिया गया है। साथ ही इस बाबत उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष ऊषा नेगी ने इस मामले में मुख्य सचिव ओमप्रकाश को एक पत्र भी भेजा है।

जनपद हरिद्वार(Haridwar) की सृष्टि गोस्वामी बतौर मुख्यमंत्री बनने के बाद उत्तराखंड में हुए विकास कार्यों की समीक्षा करेंगी। साथ ही इस मौके पर विभागों के अधिकारी विभिन्न योजनाओं पर पांच पांच मिनट का प्रेजेंटेशन भी देंगे। सृष्टि के पिता प्रवीण पुरी दौलतपुर में ही एक छोटी सी दुकान चलाते हैं जबकि, सृष्टि की मां सुधा गोस्वामी गृहिणी हैं। एक दिन की सीएम सृष्टि गोस्वामी को 2018 में बाल विधान सभा संगठन में बाल विधायक भी चुना गया था।

सृष्टि के पिता प्रवीण पुरी का कहना है कि वह बहुत गौरवांवित महूसस कर रहे हैं। उनकी बेटी ऐसा मुकाम हासिल करने जा रही है, जो भारतीय राजनीति में नई इबारत लिखने जा रहा है। उन्होंने अपनी बेटी को एक दिन का मुख्यमंत्री बनाए जाने परउत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का आभार व्यक्त किया है। सृष्टि की मां सुधा गोस्वामी का कहना है की जो मुकाम उनकी बेटी ने हासिल किया है, उससे एक संदेश देश के हर माता-पिता को मिलेगा कि बेटियों को कभी आगे बढ़ने से नहीं रोकना चाहिए।