4 मार्च को सूर्य कर रहे हैं नक्षत्र परिवर्तन,  इन 6 राशियों  के लिए समय रहेगा शुभ

surya grah bhadrapada nakshtra in hindi

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
हमारे नवग्रहों में सबसे  प्रभावशाली माने जाने वाले ग्रह सूर्य 4 मार्च को शाम 6:00 बजे अपना नक्षत्र परिवर्तन करके पूर्व भाद्रपद नक्षत्र में प्रवेश करने जा रहे हैं और 13 दिन यानी 17 मार्च की देर रात 2:21 बजे तक इसी नक्षत्र में रहेंगे। पूर्वाभाद्रपद का अर्थ होता है, शुभ पद यानी भाग्यशाली पावों वाला नक्षत्र। भाद्र या भद्र का अर्थ होता है सज्जन, शुभ, कल्याणकारी या भाग्य में वृद्धि करने वाला और पद का अर्थ  चरण व पांव से है। इस प्रकार पूर्वाभाद्रपद ऐसा नक्षत्र है, जिसके आगमन से लोगों का कल्याण हो और वह लोगों के लिए शुभ हो।

यह नक्षत्र कुंभ राशि और मीन राशि को जोड़ने वाला होता है इसलिए जिन लोगों की कुंभ राशि या मीन राशि है उनका यह नक्षत्र हो सकता है। पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में जो लोग जन्म लेते हैं, वे आकर्षक व्यक्तित्व के धनी, गुणवान, धर्म, कर्म को मानने वाले, ईमानदार, परोपकारी, न्यायप्रिय होते हैं। गुरु यदि अपनी राशि धनु या मीन में हो तो ऐसे जातक सदाचारी होते हैं। इस नक्षत्र में पैदा हुए  लोग बहुत ही कड़ी मेहनत करते हैं और अपने लक्ष्य को पाने के लिए साम, दाम ,दण्ड, भेद सभी का इस्तेमाल करते हैं। ऐसे लोग सेविंग करने में भी एक्सपर्ट होते हैं। 

सूर्य 4 मार्च को जब नक्षत्र परिवर्तन करेंगे तो कई राशियों को शुभ फल भी प्रदान करेंगे।  हमारे शास्त्रों में सूर्य को  आत्मा का कारक  और जीवन में सकारात्मक एनर्जी का प्रतीक माना गया है ।  सूर्य को देवता का दर्जा भी दिया गया है। ज्योतिष शास्त्र व हमारी संस्कृति में सूर्य का राशि या नक्षत्र परिवर्तन करना एक महत्वपूर्ण घटना माना जाता है। सूर्य के राशि व नक्षत्र परिवर्तन से सभी राशियां भी प्रभावित होती हैं और देश पर भी इसका असर पड़ता है।

सूर्य 4 मार्च को पूर्व भाद्रपद नक्षत्र में आकर 6 राशियों की परेशानी बढ़ाने वाले हैं। लेकिन 6 राशि वालों को अच्छा खासा लाभ भी देने वाले हैं। उनके पूर्व भाद्रपद नक्षत्र में गोचर करने तक 17 मार्च तक का समय ज्योतिष की दृष्टि से भी बहुत अहम रहने वाला है। 
 
राशियों-  
मेष, कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक और कुम्भ राशि वालों को खासतौर पर सतर्क रहना पड़ेगा। उनकी समस्याओं में इजाफा हो सकता है।  उनके बनते हुए कार्यों में कोई न कोई रुकावट पैदा हो सकती है। स्वभाव चिड़चिड़ा हो सकता है। स्वभाव में उग्रता आ सकती है।

कुंभ राशि वालों की खास तौर पर मुश्किलें बढ़ सकती हैं । इन्हें संभल कर रहना होगा।  इनको  स्वास्थ्य संबंधित दिक्कत भी आ सकती है। इन लोगों को उतावलापन से बचना होगा और वाद विवाद से भी दूर रहना होगा।

जिन 6 राशि वालों के लिए सूर्य का पूर्व भाद्रपद नक्षत्र में आना बहुत शानदार रहने वाला है, उनमें वृषभ राशि व मिथुन राशि  वालों का आर्थिक पक्ष पहले से मजबूत होगा। कार्यक्षेत्र में तरक्की मिलेगी। समाज में रुतबा बढ़ेगा।

सिंह राशि वालों के लिए कार्य क्षेत्र में एक बड़ी कामयाबी इंतजार कर रही है।

धनु  राशि के जातकों की भाग्य उन्नति तो होगी ही, आर्थिक पक्ष भी मजबूत होगा। कोई अच्छी खबर भी मिलेगी।

मकर राशि वालों के लिए सूर्य का पूर्व भाद्रपद नक्षत्र में आना सामान्य रहने वाला है। 

जबकि मीन राशि वालों के लिए  अच्छी खबरें आएंगी।