5 जुलाई को लगने जा रहा है चंद्र ग्रहण, कहीं आप भी तो जद में नहीं, पढ़ें पूरी जानकारी

LatestNews1: आने वाली गुरू पूर्णिमा के दिन यानी 5 जुलाई को चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। यह ग्रहण साल का चौथा और 30 दिनों के अंदर तीसरा ग्रहण है।

5 जुलाई को रविवार के दिन लगने वाला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse 2020) धनु राशि में लग रहा है. हिंदू पंचांग के अनुसार इस दिन सूर्य मिथुन राशि में होगें और पूर्णिमा तिथि रहेगी. ज्‍योतिष के मुताबिक एक माह में दो या उससे अधिक ग्रहण पड़ने को शुभ नहीं माना गया है.

धनु राशि पर ग्रहण का विपरीत प्रभाव

5 तारीख को लगने वाला ग्रहण धनु राशि में लगने जा रहा है अत: धनु राशि के जातकों को विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है क्योंकि अबकी बार ग्रहण का विपरित प्रभाव धनु राशि के जातकों पर सर्वाधिक पड़ेगा।
इस राशि के जातकों को ग्रहण के कारण मानसित तनाव, सेहत से जुड़ी कोई समस्या और माता को कष्ट आदि हो सकता है. ग्रहण के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए भगवान शिव की पूजा करें और सोमवार का व्रत रखें.

चंद्र ग्रहण का समय
ग्रहण 5 जुलाई को प्रात: 8:38 से शुरू होगा, ग्रहण का पीक समय प्रात: सुबह 9:59 पर होगा और सुबह के समय में ही 11:21 पर ग्रहण समाप्त हो जायेगा। ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 43 मिनट और 24 सेकेंड रहेगी।

लेकिन सूतक काल मान्‍य नहीं 
वैसे तो हर ग्रहण का सूतक काल एक ऐसा खास समय होता है, जिसमें कोई भी धार्मिक और शुभ कार्य नहीं किया जाता. इसके चलते सूतक काल को लेकर कई सावधानियां भी बरती जाती हैं, लेकिन 5 जुलाई के ग्रहण में ऐसा नहीं होगा. इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल मान्य नहीं रहेगा क्योंकि यह ग्रहण उपछाया ग्रहण है. उपछाया ग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होता है.

यहां दिखेगा चंद्र ग्रहण
5 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण दक्षिण एशिया के कुछ स्थानों, अमेरिका, यूरोप और आस्ट्रेलिया में देखा जा सकेगा