5 जुलाई को है चंद्रग्रहण, जानें समय और किस राशि पर पड़ेगा प्रभाव

LatestNews1:  5 जुलाई यानी गुरू पूर्णिमा के दिन वर्ष 2020 का चौथा ग्रहण लगने जा रहा है इससे पहले चंद्रग्रहण ठीक एक महीने पहले 5 जून को लगा था और इसी के बीच 21 जून  को पूर्ण सूर्य ग्रहण का नजारा भी देशवासियों ने देखा था। आपको बता दें की 30 दिनों के भीतर ही यह तीसरा ग्रहण है। इस ग्रहण का सर्वाधिक प्रभाव धनु राशि के जातकों पर सर्वाधिक पड़ेगा।

5 जुलाई को लगने वाला चंद्र ग्रहण धनु राशि में लग रहा है। धनु राशि पर चंद्र ग्रहण का अधिक प्रभाव देखा जाएगा। ग्रहण के समय चंद्रमा पीड़ित हो जाता है। पंचांग के अनुसार इस दिन सूर्य मिथुन राशि में होंगे और पूर्णिमा तिथि होगी।

नहीं लगेगा सूतक काल

आपको बता दें की जब भी ग्रहण लगता है तो सूतक काल उससे पूर्व ही प्रारम्भ हो जाता है लेकिन 5 जुलाई को पड़ने वाले चंद्रग्रहण में सूतक काल नहीं लगेगा और इसका कारण यह है कि यह एक उपच्छाया ग्रहण है। सूतक काल में सभी प्रकार के धार्मिक कार्यों की मनाही होती है। ग्रहण के समय कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है।

ग्रहण का समय

ग्रहण 5 जुलाई को प्रात: 8:38 से शुरू होगा, ग्रहण का पीक समय प्रात: सुबह 9:59 पर होगा और सुबह के समय में ही 11:21 पर ग्रहण समाप्त हो जायेगा। ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 43 मिनट और 24 सेकेंड रहेगी।

हालांकि इस उपच्छाया चंद्रग्रहण को भारत में देखा नहीं जा सकेगा।