5 जुलाई चंद्रग्रहण: जानिए अबकी बार क्या है खास

LatestNews1: इस वर्ष भी चंद्रग्रहण और गुरू पूर्णिमा के त्यौहार का विशेष संयोग आने वाली 5 जुलाई को बन रहा है। आपको बता दें की यह लगातार तीसरा वर्ष है जब गुरू पूर्णिमा और चंद्रग्रहण एक साथ आ रहे है इससे पहले भी कई बार गुरू पूर्णिमा और चंद्रग्रहण साथ आ चुके हैं।

आपको बता दें की अबकी बार के चंद्र ग्रहण में क्या खास रहने वाला है।

5 जुलाई को लगने वाला चंद्रग्रहण उपच्छाया ग्रहण होगा।

उपच्छाया ग्रहण होने के कारण अबकी बार सूतक काल भी नहीं लगेगा।

उपच्छाया ग्रहण का अर्थ है कि इसमें केवल पृथ्वी की छाया ही चंद्रमा पर पड़ेगी। ग्रहण में पृथ्वी चंद्रमा और सूर्य एक सीध में होते हैं लेकिन उपच्छाया ग्रहण में तीनों इस प्रकार होते हैं कि पृथ्वी की केवल छाया ही चंद्रमा पर पड़ती है।

अबकी बार का चंद्र ग्रहण धनु राशि में लगने जा रहा है अत: ग्रहण का सबसे अधिक प्रभाव धनु राशि के जातकों पर देखने को मिलेगा।

लगातार तीन वर्षों से गुरू पूर्णिमा और चंद्रग्रहण साथ, पिछले वर्ष यह संयोग 16 जुलाई को बना था और वर्ष 2018 में यही संयोग 27 जुलाई को बना था।

चंद्र ग्रहण का समय

ग्रहण 5 जुलाई को प्रात: 8:38 से शुरू होगा, ग्रहण का पीक समय प्रात: सुबह 9:59 पर होगा और सुबह के समय में ही 11:21 पर ग्रहण समाप्त हो जायेगा। ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 43 मिनट और 24 सेकेंड रहेगी।