6 महीने बाद हार्दिक का चौंकाने वाला खुलासा, कहा- वर्ल्ड कप में धोनी के रन आउट होने पर…

भारतीय क्रिकेट के लिए 2019 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में महेंद्र सिंह धोनी का रन आउट होना सबसे बड़ा झटका था। जिसके बाद भारतीय टीम का सफर वहीं पर खत्म हो गया। इस झटके के बाद टीम को इससे बाहर निकलने में भी बहुत समय लगा। खुद एमएस धोनी को आज भी इसका मलाल है कि उन्होंने बचने के लिए डाइव क्यों नहीं लगाई।
इस हार से भारत के धुरंधर ऑलराउंडर हा‌र्दिक पंड्या भी दुःखी थे कि उन्हें हर सुबह ऐसा लगता था जैसे ये सब अभी हुआ है। इंडिया टुडे के एक साक्षात्कार के मुताबिक, हार्दिक पांड्या ने कहा कि उस हार के बाद कुछ ‌दिनों तक जब भी वह सुबह उठते थे तो उन्हें ऐसा लगता था, जैसे ये सब अभी अभी हुआ ‌है। उन्होंने उस लम्हे को याद करते हुए कहा कि मुकाबले के बाद किसी ने ग्रुप में मैसेज किया था कि यह हकीकत नहीं है।
सभी को ऐसा ही लग रहा था। सबसे कठिन तो सेमीफाइनल हारने के बाद उस रात सोना था और उससे भी ज्यादा कठिन धोनी का रन आउट होना रहा था। हार्दिक ने कहा कि कठिन हालातों में जब धोनी क्रीज पर खड़े थे तो हमें पता था कि क्रीज पर खड़े व्यक्ति को हम जानते हैं। पहले भी कई बार उन्होंने अकेले अपने दम पर टीम को जीत दिलाई है और वो एक बार फिर ऐसा करने जा रहे हैं।
उन्होंने गप्टिल के अद्भुत थ्रो के बारे में कहा कि उन्हें उस समय तक यकीन था। उन्हें मालूम ‌था कि जिमी नीशम गेंदबाजी करेंगे। माही भाई हालातों से अधिक प्रभावित नहीं होते। उनके पास 14 वर्ष का अनुभव है और पता था कि वें दो छक्के ठोंकने का रास्ता निकाल ली लेंगे। लेकिन उनके रन आउट होने पर बिल्कुल भी यकीन नहीं हुआ, क्योंकि आमतौर पर वो रन आउट नहीं होते।