9 घंटे सोने के लिए यह कंपनी दे रही है एक लाख रुपये सैलरी

देश के आईटी हब और कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु की एक कंपनी आपको नींद के बदले 1 लाख रुपए देने को तैयार है। शर्त यह है कि चुने गए शख्स को 100 दिनों तक रोजाना 9 घंटे की नींद पूरी करनी होगी। ऑनलाइन स्लीप सॉल्यूशंस कंपनी

 देश के आईटी हब और कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु की एक कंपनी आपको नींद के बदले 1 लाख रुपए देने को तैयार है। शर्त यह है कि चुने गए शख्स को 100 दिनों तक रोजाना 9 घंटे की नींद पूरी करनी होगी। ऑनलाइन स्लीप सॉल्यूशंस कंपनी वेकफिट ने यह ऑफर जारी किया है। Wakefit.co ने इस प्रोग्राम का ‘वेकफिट स्लीप इंटर्नशिप’ नाम दिया है, जहां चयनित उम्मीदवारों को 100 दिनों तक हर रात नौ घंटे सोना जरूरी है।

चयनित कैंडिडेट कंपनी की ओर से दिए गए गद्दों पर सोएंगे और बताएंगे कि नींद कैसी आई। कंपनी नींद लेने वाले कैंडिडेट्स की काउंसलिंग करेगी और गद्दे पर उनके सोने के तरीके को भी ट्रैक करेगी। इस दौरान विशेषज्ञों की तरफ से सोने को लेकर सलाह भी दी जाएगी। शॉर्टलिस्ट किए गए कैंडिडेट्स की नींद को वीडियो में रिकॉर्ड किया जाएगा।

विजेताओं को एक स्लीप ट्रैकर दिया जाएगा जो इंटर्नशिप गद्दे का उपयोग करने से पहले और बाद में नींद के पैटर्न को रिकॉर्ड करेगा। 1 लाख रुपये कमाने के लिए इंटर्न को हर दिन नौ घंटे सोना और वेकफिट कंपनी के साथ नींद डेटा साझा करना होगा।

Wakefit.co के निदेशक और सह-संस्थापक चैतन्य रामालिंगेगौड़ा ने बताया, “एक स्लीप सॉल्यूशंस कंपनी के तौर पर हमारा उद्देश्य लोगों को बेहतर नींद के लिए प्रेरित करना है। भागदौड़ भरी जिंदगी में नींद दुर्भाग्य से एक आम दुर्घटना बन रही है, जो हमारी सेहत, उत्पादकता और जीवन की गुणवत्ता पर विपरीत प्रभाव डाल रही है।” उन्होंने कहा, “हम इसमें देश के उन लोगों की भर्ती करना चाहते हैं जो अपनी जिंदगी में नींद को प्राथमिकता देने के लिए किसी भी हद तक जाने के इच्छुक हैं।”

वेकफिट के ‘राइट टू वर्क नैप्स’ शीर्षक के सर्वे के अनुसार, 1500 उत्तरदाताओं में से 70 फीसदी ने कहा है कि उनके पास काम के दौरान एक “नैप रूम’ नहीं है। मालूम हो कि इससे पहले नासा (NASA) अपनी अंतरिक्ष रिसर्च के लिए दो महीने तक बिस्तर पर लेटने वाले लोगों को 19,000 डॉलर (करीब 14 लाख रुपये) का भुगतान करने तैयार था।