Hathras Case: पीड़िता की भाभी मां से 5 घंटे चली पूछताछ, गांव से रवाना हुई CBI की टीम

भाभी ने बताया कि 14 सितंबर को कौन सबसे पहले घर आया था. साथ इस दिन कौन कहां था इसके बारे में भी सीबीआई (CBI) टीम ने पूछताछ की.

Hathras Case: पीड़िता की भाभी और मां से 5 घंटे चली पूछताछ, गांव से रवाना हुई CBI की टीम

हाथरस. उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड (Hathras Case) को लेकर सियासत गरमाई हुई है. दूसरी तरफ, सीबीआई से लेकर ईडी और यूपी पुलिस की एसआईटी, एसटीएफ जांच में जुटी हुई है. इस बीच, शनिवार को सीबीआई (CBI) की टीम पीड़िता के परिजनों से पूछताछ करने उनके घर पहुंची. सीबीआई की टीम ने करीब 5 घंटे तक परिजनों से पूछताछ की और उसके बाद टीम हाथरस की पीड़िता के घर से निकल गई. बताया जा रहा है कि सीबीआई की टीम ने पीड़िता की भाभी और पीड़िता की मां से लंबी पूछताछ की.

पीड़िता की भाभी ने बताया कि सीबीआई की ने उनसे पीड़िता के बारे में पूछताछ की है. उन्होंने बताया कि चश्मदीद छोटू ने जो बयान दिया उस आधार पर पूछताछ की गई है. साथ ही पीड़िता और संदीप के बीच जो कॉल डिटेल सामने आए थे उसके बारे में भी पूछताछ की गई. इस दौरान सीबीआई की टीम पीड़िता के कपड़े साथ लेकर गई थी.सीबीआई की पूछताछ से पीड़ित परिवार संतुष्ट है.


विज्ञापन
भाभी ने बताया कि 14 सितंबर को कौन सबसे पहले घर आया था. साथ इस दिन कौन कहां था इसके बारे में भी सीबीआई टीम ने पूछताछ की. पूछताछ के लिए सीबीआई की डीएसपी के साथ एक और महिला अधिकारी टीम में हैं. इससे पहले सीबीआई ने शुक्रवार को हाथरस केस के चमश्दीद छोटू उर्फ विक्रांत के बयान दर्ज किए थे. विक्रांत वही शख्स है जिसका खेत था और जो घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचा था.

गांव में नहीं रहना चाहता पीड़िता का परिवार

उधर, हाथरस पीड़िता के भाई का बयान सामने आया था. भाई का कहना है कि वह गांव में रहना नहीं चाहता है. वह चाहता है कि केस को दिल्ली ट्रांसफर कर दिया जाए. उन्‍होंने कहा कि रोजगार की वजह से वह परिवार के साथ दिल्ली शिफ्ट होना चाहते हैं. पीड़ि‍ता के भाई का मानना है कि दिल्ली केस ट्रांसफर हो जाएगा तो वहां रहकर वह केस की पैरवी कर सकते हैं. सीबीआई द्वारा पूछताछ की बात पर पीड़ि‍ता के भाई ने कहा कि उन्‍होंने घटना से जुड़ी पूरी जानकारी सीबीआई को दे दी है.