Ind vs Eng : पहले T-20 में इंग्लैंड ने भारत को हराया, खुल गयी भारतीय बल्लेबाजी की पोल

इंग्लैंड (England Women) ने भारत (India Women) से पहला T20 मुकाबला जीत लिया है. हरमनप्रीत (Harmanpreet Kaur) की कमान वाली भारतीय महिला टीम को पहले T20 में 18 रन से हार का सामना करना पड़ा. इसी के साथ 3 T20 की सीरीज में वो 0-1 से पिछड़ गए हैं. हालांकि, मैच में बारिश हो गई. नतीजा डकवर्थ लुइस नियम से निकला, जो कि इंग्लैंड के हक में गया. पर बारिश के विलेन से पहले ही भारतीय बल्लेबाजी की पोल खुल चुकी थी. उसके टॉप ऑर्डर के टांय टांय फिस्स होने की कहानी लिखती दिख चुकी थी. टॉप के बल्लेबाजों ने अच्छा और तेज तर्रार खेल दिखाया होता तो डकवर्थ लुइस से मैदान उनका भी हो सकता था. पर उन्होंने विकेट पर जमना मुनासिब नहीं समझा. नतीजा वही हुआ जिसका डर था.

ENG W vs IND W: England Women beat India Women by 18 runs in 1st T20

मुकाबले में पहला वार करना हमेशा फायदेमंद होता है लेकिन हरमनप्रीत एंड कंपनी ने यही मौका इंग्लैंड के खिलाफ गंवा दिया. अब दूसरे T20 में भारतीय महिलाओं पर जीत का ज्यादा दबाव रहेगा. बहरहाल, पहले T20 में इंग्लैंड ने पहले बैटिंग की और 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 177 रन बनाए. यानी भारत को 178 रन का लक्ष्य दिया. भारत की ओर से गेंद से सबसे सफल गेंदबाज शिखा पांडे रहीं, जिन्होंने 4 ओवर में 22 रन देकर 3 विकेट चटकाए. खास बात ये रही कि ये तीनों विकेट उन्होंने एक ही ओवर में लिए.

स्मृति का स्टार्ट अच्छा पर कहां है बड़ी पारी?

अब सामने 178 रन का लक्ष्य था और भारतीय महिला टीम के बल्लेबाज थे. शुरुआत जरूरत से ज्यादा खराब रही क्योंकि दूसरी ही गेंद पर इनफॉर्म शफाली वर्मा क्लीन बोल्ड हो गईं. इसके बाद स्मृति और अपना दूसरा ही T20 खेल रहीं हरलीन देओल पर निगाहें जम गईं. दोनों के बीच साझेदारी बनती दिखी. लेकिन अभी ये पार्टनरशिप 50 रन के करीब ही पहुंची थी कि स्मृति ने अपना विकेट गंवा दिया. वो 17 गेंदों पर 29 रन बनाकर आउट हुईं. यानी एक बेहतरीन शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल सकीं.

हरमनप्रीत का खराब फॉर्म T20 में भी बरकरार

हरलीन की नई पार्टनर अब टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर थीं. लेकिन, उनसे किसी करिश्में की उम्मीद करते उन्होंने अपने डगआउट लौटने का बंदोबस्त कर लिया. उनका वनडे सीरीज वाला खराब फॉर्म यहां भी जारी रहा. गनीमत ये रही कि वो 1 रन बनाकर खाता खोलने में कामयाब रहीं. भारत का स्कोर 3 विकेटों के नुकसान पर 9वें ओवर में 50 रन के पार पहुंचा. अनुभवी बल्लेबाजों के आउट हो जाने से भारत पर हार का खतरा मंडराने लगा था. इसी बीच बारिश ने मैच रोक दिया, जिसके बाद मुकाबले का नतीजा डकवर्थ लुइस नियम के आधार पर निकाला गया. और, उसमें भी कहानी बिल्कुल साफ थी.