हार के बावजूद एक साथ खडी है टीम इंडिया, सचिन तेंडुलकर ने किया धोनी को सपोर्ट

सचिन तेंडुलकर ने रवींद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी की जुझारू पारी की सराहना की और कहा मैच फिनिश का दबाव धोनी पर ही क्यों।

भारत को न्यूजीलैंड के हाथों मिली शिक्स्त के साथ ही भारत का वर्ल्ड कप जीतने का सपना भी चकना चूर हो गया। इस हार के बाद टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी आलचकों के निशाने पर है। धोनी पर आरोप है कि उन्होंने मिडिल ओवरों में बहुत ही धीमी गति से रन बनाए जिसका खामियाजा टीम को हार से चुकाना पड़ा। ऐसे में क्रिकेट दिग्गज सचिन तेंडुलकर ने ही महेंद्र सिंह धोनी का पक्ष लेते हुए कहा कि भारतीय टीम ने 240 के लक्ष्य को इतना बड़ा बना दिया कि उन्हें 18 रनों से हार का सामना करना पड़ा। 

सचिन ने रविंद्र जडेजा और धोनी की जुझारू पारी की सराहना करते हुए कहा कि टीम केवल शीर्ष क्रम के खिलाडियों पर ही निर्भर नहीं रह सकती मध्य क्रम को भी अपनी भूमिका समझनी चाहिए। जडेजा और धोनी ने अंत तक प्रयास किया लेकिन वे अपनी टीम को सफलता नहीं दिला सके।

Image result for सचिन धोनी

हार से दुखी दिख रहे सचिन ने आगे कहा कि हांलाकि मुझे लगता ही कि टीम को अच्छी शुरूआत के लिए सदैव ही शीर्ष क्रम पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। अच्छी बॉलिंग के कारण भारतीय टीम न्यूजीलैंड को 239 के स्कोर पर रोकने में कामयाब रही लेकिन भारत का जाना पहचाना शीर्ष क्रम रोहित शर्मा और विराट कोहली के विकेट जल्दी गिर जाने से भारतीय टीम दबाव में आ गई ऐसे में मध्य क्रम को बल्लेबाजी का भार उठाना चाहिए था और हार का जिम्मेदार केवल धोनी को ठहराना बिल्कुल भी सही नहीं है।  

अंपायरों की गलती से भारत हारा सेमीफाइनल, अंपायर ध्यान रखते तो धोनी नहीं होते रन आउट जानिए कैसे

हमेशा धोनी ही मैंच फिनिशर की भूमिका क्यों निभाएं

सचिन ने कहा की हमेशा धोनी को ही मैच फिनिशर की भूमिका में क्यों देखा जाता है वे बहुत बार ऐसा करते आए हैं और उन्होंने पूरी कोशिश भी की थी, क्रिकेट असंभावनाओं का खेल है और उसमें कुछ भी हो सकता है। दिग्गज खिलाडी वीवीएस लक्ष्मण ने भी जडेजा और धोनी की पारी की सराहना की और कहा की दोनों ने काफी अच्छी पारी खेली हांलाकि वे अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए। ऐसे में टीम को मजबूत बने रहना चाहिए और एक दूसरे को हार का जिम्मेदार नहीं ठहराना चाहिए।  

क्रिकेट दिग्गजों पर टूटा कहर

दिग्गज खिलाडी हरभजन सिंह ने न्यूजीलैंड को बधाई देते हुए लिखा ‘दिल टूट गया’ इसके साथ ही सुरेश रैना ने भी अपनी भावनाएं प्रकट की रैना ने जडेजा की प्रशंसा की और कहा की भाग्य ने साथ नहीं दिया, भारतीय को विश्व कप में हार मिली लेकिन उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा। क्रिकेट कमंटेटर संजय माजरेकर ने कहा कि भारतीय टीम विश्व कप नहीं जीत पाई लेकिन 7 मुकाबले जीतने के कारण वे मेरे लिए विश्व कप विजेता के समान है।

गौरतलब है कि सभी भारतीय टीम की हार से दुखी है सचिन का इशारा नम्बर 4 और 5 की तरफ था जो काफी समय से भारतीय टीम के लिए समस्या का कारण बनी हुई है। टीम प्रबंधन को भी इस और ध्यान देना चाहिए और इस समय टीम को सपोर्ट करना चाहिए जो की सबसे अहम है।

सेमीफाइनल में हार के बाद धोनी ने ली हार की जिम्मेदारी, क्रिकेट को कहा अलविदा

Please follow and like us:
Facebook
Facebook
Twitter
Follow by Email
RSS
YOUTUBE
PINTEREST
LINKEDIN
INSTAGRAM
shares